Connect with us

Breaking News

Cyber Attack: PF की वेबसाइट पर बड़ा साइबर अटैक, 28 करोड़ खाताधारकों की निजी जानकारी पहुंची हैकर के पास

Published

on


ख़बर सुनें

प्रोविडेंट फंड (PF) के 28 करोड़ से अधिक खाताधारकों के अकाउंट की जानकारी लीक हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक PF की वेबसाइट की यह हैकिंग इस महीने की शुरुआत में हुई है। यूक्रेन के एक साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर Bob Diachenko ने दी है।

बॉब ने एक अगस्त 2022 को एक लिंकडिन पोस्ट के जरिए इस हैकिंग के बारे में जानकारी दी है। इस डाटा लीक में UAN नंबर, नाम, वैवाहिक स्थिति, आधार कार्ड की पूरी डीटेल, लिंग औ बैंक अकाउंट की पूरी जानकारी शामिल हैं। Diachenko के मुताबिक दो अलग-अलग आईपी एड्रेस से यह डाटा लीक हुआ है। ये दोनों आईपी Microsoft’s Azure cloud से लिंक थे।

पहले आईपी से 280,472,941 और दूसरे आईपी से 8,390,524 डाटा लीक होने की खबर है। अभी तक उस हैकर की पहचान नहीं हुई है जिसके बाद यह डाटा पहुंचा है। इसके अलावा अभी तक DNS सर्वर की जानकारी नहीं मिल पाई है।

https://www.linkedin.com/feed/update/urn:li:ugcPost:6960549857900023808?updateEntityUrn=urn%3Ali%3Afs_updateV2%3A%28urn%3Ali%3AugcPost%3A6960549857900023808%2CFEED_DETAIL%2CEMPTY%2CDEFAULT%2Cfalse%29

अभी तक इस बात की भी जानकारी नहीं मिल पाई है 28 करोड़ यूजर्स का डाटा कब से ऑनलाइन उपलब्ध है। इन डाटा का इस्तेमाल हैकर गलत तरीके से भी कर सकता है। लीक हुई जानकारियों के आधार पर लोगों की फर्जी प्रोफाइल तैयार की जा सकती है।

Bob Diachenko ने इस डाटा लीक की जानकारी इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम (CERT-In) को भी दी है। रिपोर्ट मिलने के बाद CERT-IN ने रिसर्चर को ई-मेल के जरिए अपडेट दिया है। CERT-IN ने कहा है कि दोनों आईपी एड्रेस को 12 घंटे के अंदर ब्लॉक कर दिया गया है। इस हैकिंग की जिम्मेदारी अभी तक किसी एजेंसी या हैकर ने नहीं ली है।

विस्तार

प्रोविडेंट फंड (PF) के 28 करोड़ से अधिक खाताधारकों के अकाउंट की जानकारी लीक हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक PF की वेबसाइट की यह हैकिंग इस महीने की शुरुआत में हुई है। यूक्रेन के एक साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर Bob Diachenko ने दी है।

बॉब ने एक अगस्त 2022 को एक लिंकडिन पोस्ट के जरिए इस हैकिंग के बारे में जानकारी दी है। इस डाटा लीक में UAN नंबर, नाम, वैवाहिक स्थिति, आधार कार्ड की पूरी डीटेल, लिंग औ बैंक अकाउंट की पूरी जानकारी शामिल हैं। Diachenko के मुताबिक दो अलग-अलग आईपी एड्रेस से यह डाटा लीक हुआ है। ये दोनों आईपी Microsoft’s Azure cloud से लिंक थे।

पहले आईपी से 280,472,941 और दूसरे आईपी से 8,390,524 डाटा लीक होने की खबर है। अभी तक उस हैकर की पहचान नहीं हुई है जिसके बाद यह डाटा पहुंचा है। इसके अलावा अभी तक DNS सर्वर की जानकारी नहीं मिल पाई है।

https://www.linkedin.com/feed/update/urn:li:ugcPost:6960549857900023808?updateEntityUrn=urn%3Ali%3Afs_updateV2%3A%28urn%3Ali%3AugcPost%3A6960549857900023808%2CFEED_DETAIL%2CEMPTY%2CDEFAULT%2Cfalse%29

अभी तक इस बात की भी जानकारी नहीं मिल पाई है 28 करोड़ यूजर्स का डाटा कब से ऑनलाइन उपलब्ध है। इन डाटा का इस्तेमाल हैकर गलत तरीके से भी कर सकता है। लीक हुई जानकारियों के आधार पर लोगों की फर्जी प्रोफाइल तैयार की जा सकती है।

Bob Diachenko ने इस डाटा लीक की जानकारी इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम (CERT-In) को भी दी है। रिपोर्ट मिलने के बाद CERT-IN ने रिसर्चर को ई-मेल के जरिए अपडेट दिया है। CERT-IN ने कहा है कि दोनों आईपी एड्रेस को 12 घंटे के अंदर ब्लॉक कर दिया गया है। इस हैकिंग की जिम्मेदारी अभी तक किसी एजेंसी या हैकर ने नहीं ली है।



Source link

Trending