Connect with us

Breaking News

Delhi-NCR AQI: अगले तीन दिनों में सुधरेगी दिल्ली-एनसीआर की हवा, बारिश की वजह से वायु गुणवत्ता पर पड़ेगा प्रभाव

Published

on


दिल्ली में साफ मौसम
– फोटो: अमर उजाला

खबर सुनो

अगले तीन दिनों के भीतर दिल्ली-एनसीआर में हवा में सुधार की उम्मीद है। वायु मानक एजेंसियों का अनुमान है कि नई बारिश की शुरुआत से हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। उधर, दिल्ली समेत एनसीआर के शहरों की हवा मंगलवार को औसत श्रेणी में दर्ज की गई है. सबसे खराब वायु स्तर फरीदाबाद में 177 के एक्यूआई के साथ था।

केंद्र के वायु मानक निकाय सफर इंडिया के अनुसार, मंगलवार को पीएम 10 में 2.5 माइक्रोमीटर से बड़े कणों का हिस्सा 63 प्रतिशत था। वहीं, पिछले 24 घंटे में पीएम 10 का स्तर 126 और पीएम 2.5 का स्तर 50 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया.

अगले तीन दिनों तक हवा की गति आठ से 18 किलोमीटर प्रति घंटे के दायरे में रहने का अनुमान है। वर्तमान में पराली का धुआं प्रदूषण में नगण्य हिस्सा दर्ज कर रहा है और एनसीआर से आने वाला प्रदूषण भी दिल्ली के प्रदूषण को नहीं बढ़ा रहा है। इससे स्थानीय स्तर पर हो रहे प्रदूषण के कारण दिल्ली में प्रदूषण का स्तर औसत श्रेणी में बना हुआ है। हालांकि, जब बारिश का मौसम शुरू होता है, तो प्रदूषक कण पृथ्वी की सतह पर बस जाएंगे, जिससे हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। हालांकि बारिश का यह दौर रुकने के बाद जैसे ही मौसम करवट लेगा प्रदूषण का दौर शुरू हो जाएगा।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मौसम विज्ञान (आईआईटीएम) के मुताबिक, मंगलवार को मिक्सिंग हाइट का लेवल 1500 मीटर था। वहीं, अगले 24 घंटे में यह बढ़कर 2200 मीटर हो सकती है। गुरुवार तक इसके 1600 मीटर तक पहुंचने की संभावना है। वहीं, पिछले 24 घंटे में वेंटिलेशन इंडेक्स का स्तर 3200 वर्ग मीटर प्रति सेकेंड था। बुधवार तक यह बढ़कर 6500 और गुरुवार तक घटकर 5500 वर्ग मीटर प्रति सेकेंड हो सकता है।

दिल्ली-एनसीआर का एक्यूआई
दिल्ली- 150
फरीदाबाद – 177
गाजियाबाद – 162
ग्रेटर नोएडा – 146
गुरुग्राम – 168
नोएडा- 154

विस्तार

अगले तीन दिनों के भीतर दिल्ली-एनसीआर में हवा में सुधार की उम्मीद है। वायु मानक एजेंसियों का अनुमान है कि नई बारिश की शुरुआत से हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। उधर, दिल्ली समेत एनसीआर के शहरों की हवा मंगलवार को औसत श्रेणी में दर्ज की गई है. सबसे खराब वायु स्तर फरीदाबाद में 177 के एक्यूआई के साथ था।

केंद्र के वायु मानक निकाय सफर इंडिया के अनुसार, मंगलवार को पीएम 10 में 2.5 माइक्रोमीटर से बड़े कणों का हिस्सा 63 प्रतिशत था। वहीं, पिछले 24 घंटे में पीएम 10 का स्तर 126 और पीएम 2.5 का स्तर 50 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया.

अगले तीन दिनों तक हवा की गति आठ से 18 किलोमीटर प्रति घंटे के दायरे में रहने का अनुमान है। वर्तमान में पराली का धुआं प्रदूषण में नगण्य हिस्सा दर्ज कर रहा है और एनसीआर से आने वाला प्रदूषण भी दिल्ली के प्रदूषण को नहीं बढ़ा रहा है। इससे स्थानीय स्तर पर हो रहे प्रदूषण के कारण दिल्ली में प्रदूषण का स्तर औसत श्रेणी में बना हुआ है। हालांकि, जब बारिश का मौसम शुरू होता है, तो प्रदूषक कण पृथ्वी की सतह पर बस जाएंगे, जिससे हवा की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। हालांकि बारिश का यह दौर रुकने के बाद जैसे ही मौसम करवट लेगा प्रदूषण का दौर शुरू हो जाएगा।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मौसम विज्ञान (आईआईटीएम) के मुताबिक, मंगलवार को मिक्सिंग हाइट का लेवल 1500 मीटर था। वहीं, अगले 24 घंटे में यह बढ़कर 2200 मीटर हो सकती है। गुरुवार तक इसके 1600 मीटर तक पहुंचने की संभावना है। वहीं, पिछले 24 घंटे में वेंटिलेशन इंडेक्स का स्तर 3200 वर्ग मीटर प्रति सेकेंड था। बुधवार तक यह बढ़कर 6500 और गुरुवार तक घटकर 5500 वर्ग मीटर प्रति सेकेंड हो सकता है।

दिल्ली-एनसीआर का एक्यूआई

दिल्ली- 150

फरीदाबाद – 177

गाजियाबाद – 162

ग्रेटर नोएडा – 146

गुरुग्राम – 168

नोएडा- 154

,



Source link

Trending