Connect with us

Prayagraj News

Prayagraj : डिप्रेशन की शिकार महिला ने छत से कूदकर दी जान, पति से आए दिन होते थे झगड़े

Published

on

[ad_1]

मौत

मौत
फोटोः फाइल

समाचार सुनें

कोतवाली के बताशा मंडी में रहने वाली सर्राफ पत्नी रूचि वर्मा (38) ने छत से कूदकर आत्महत्या कर ली। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी सांसें थम गईं। पुलिस का कहना है कि रुचि डिप्रेशन का शिकार थी। बताशा मंडी निवासी राजा वर्मा सर्राफा कारोबारी हैं। रूचि उसकी पत्नी थी। उनके तीन बच्चे हैं, जिनमें सबसे बड़ा बेटा 20 साल का है। पुलिस के मुताबिक बुधवार सुबह करीब नौ बजे घर में सभी लोग अपने-अपने काम में व्यस्त थे।

इसी बीच रुचि छत पर जाकर नीचे कूद गई। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। जब अगल-बगल के लोगों ने देखा तो शोर मचाया, जिस पर परिजन भी आ गए। उन्हें रामबाग के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान दोपहर में उसकी मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इंस्पेक्टर अमर सिंह रघुवंशी के मुताबिक परिजनों ने बताया कि मृतक डिप्रेशन का शिकार था. करीब दो माह पहले भी उसने आत्महत्या का प्रयास किया था।

विस्तार

कोतवाली के बताशा मंडी में रहने वाली सर्राफ पत्नी रूचि वर्मा (38) ने छत से कूदकर आत्महत्या कर ली। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी सांसें थम गईं। पुलिस का कहना है कि रुचि डिप्रेशन का शिकार थी। बताशा मंडी निवासी राजा वर्मा सर्राफा कारोबारी हैं। रूचि उसकी पत्नी थी। उनके तीन बच्चे हैं, जिनमें सबसे बड़ा बेटा 20 साल का है। पुलिस के मुताबिक बुधवार सुबह करीब नौ बजे घर में सभी लोग अपने-अपने काम में व्यस्त थे।

इसी बीच रुचि छत पर जाकर नीचे कूद गई। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। जब अगल-बगल के लोगों ने देखा तो शोर मचाया, जिस पर परिजन भी आ गए। उन्हें रामबाग के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान दोपहर में उसकी मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इंस्पेक्टर अमर सिंह रघुवंशी के मुताबिक परिजनों ने बताया कि मृतक डिप्रेशन का शिकार था. करीब दो माह पहले भी उसने आत्महत्या का प्रयास किया था।

,

[ad_2]

Source link

Trending