Connect with us

Prayagraj News

Prayagraj News: मदरसे में शिक्षकों की नियुक्ति में फर्जीवाड़ा की शिकायत

Published

on

[ad_1]

समाचार सुनें

प्रयागराज। केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कौशांबी के एक मदरसे में शिक्षकों की नियुक्ति में फर्जीवाड़ा कर हवाला से कमाई करने की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है. मंत्री ने मदरसे के प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सीएम से आग्रह किया गया है कि मामले की अरबी-फारसी बोर्ड से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। वहीं मदरसा प्रबंधन ने इसे बदनाम करने की साजिश करार दिया है.
केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कौशांबी की चैल तहसील स्थित बीकाहा गांव में संचालित हो रहे मदरसा सैदुल उलूम में शिक्षकों की नियुक्ति में धांधली की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है. इस मदरसे में शिक्षकों की नियुक्ति में बड़े पैमाने पर अनियमितता कर सरकारी धन के दुरूपयोग की बात भी सामने आई है. शिकायत में कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। खासकर प्रबंधन पर एक ही परिवार के कई सदस्यों को नौकरी और लाभ देने की बात भी कही गई है. इस मान्यता प्राप्त मदरसे में फर्जीवाड़ा की पहले भी कई बार शिकायत हो चुकी है। लेकिन, रसूख के चलते प्रबंधन हमेशा इस मामले को दबाने में सफल रहा है।
इस बार इस मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री के दखल के बाद मदरसे को लेकर नीचे से ऊपर तक अधिकारियों के कान खड़े हो गए हैं. मदरसा सैदुल उलूम में शिक्षकों की नियुक्ति में गड़बड़ी के साथ ही हवाला धंधे से पैसा कमाने के मामले की अरबी-फारसी बोर्ड के अलावा अन्य सुरक्षा एजेंसियों से जांच कराकर दोषियों को सजा दिलाने की बात कही है. हालांकि दूसरी ओर मदरसा सैदुल उलूम के प्रबंधन का कहना है कि फर्जी डिग्री के आधार पर काम करने वाले एक शिक्षक को यहां से निकाला गया है. वही शिक्षिका वहां इस तरह की शिकायत कर मदरसे को बदनाम करने की साजिश रच रही है।

प्रयागराज। केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कौशांबी के एक मदरसे में शिक्षकों की नियुक्ति में फर्जीवाड़ा कर हवाला से कमाई करने की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है. मंत्री ने मदरसे के प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सीएम से आग्रह किया गया है कि मामले की अरबी-फारसी बोर्ड से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। वहीं मदरसा प्रबंधन ने इसे बदनाम करने की साजिश करार दिया है.

केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कौशांबी की चैल तहसील स्थित बीकाहा गांव में संचालित हो रहे मदरसा सैदुल उलूम में शिक्षकों की नियुक्ति में धांधली की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है. इस मदरसे में शिक्षकों की नियुक्ति में बड़े पैमाने पर अनियमितता कर सरकारी धन के दुरूपयोग की बात भी सामने आई है. शिकायत में कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। खासकर प्रबंधन पर एक ही परिवार के कई सदस्यों को नौकरी और लाभ देने की बात भी कही गई है. इस मान्यता प्राप्त मदरसे में फर्जीवाड़ा की पहले भी कई बार शिकायत हो चुकी है। लेकिन, रसूख के चलते प्रबंधन हमेशा इस मामले को दबाने में सफल रहा है।

इस बार इस मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री के दखल के बाद मदरसे को लेकर नीचे से ऊपर तक अधिकारियों के कान खड़े हो गए हैं. मदरसा सैदुल उलूम में शिक्षकों की नियुक्ति में गड़बड़ी के साथ ही हवाला धंधे से पैसा कमाने के मामले की अरबी-फारसी बोर्ड के अलावा अन्य सुरक्षा एजेंसियों से जांच कराकर दोषियों को सजा दिलाने की बात कही है. हालांकि दूसरी ओर मदरसा सैदुल उलूम के प्रबंधन का कहना है कि फर्जी डिग्री के आधार पर काम करने वाले एक शिक्षक को यहां से निकाला गया है. वही शिक्षिका वहां इस तरह की शिकायत कर मदरसे को बदनाम करने की साजिश रच रही है।

,

[ad_2]

Source link

Trending